Thursday, 22 January 2015

एक खाहिश है हमारी...की तुम रहो साथ हमेशा...
डाल हाथों में हाथ करे हम तय करे ये लंबा सफ़र...
न हो दिलों में दूरियाँ कभी... न हमारे बीच फासले....
ऐसी हो हमारी दास्तान...कि जिसे लोग भी सालों तक याद करें....

No comments:

Post a Comment