Tuesday, 10 February 2015

औरों की सुबह तो सूरज चढ़ने से होती है.....
मेरा दिन तो उसकी आवाज़ सुनने से शुरू होता है....

No comments:

Post a Comment